हमारी कंपनी की कहानी

नैतिक स्वच्छता क्रान्ति

2006 में किशोरावस्था के अंतिम चरण में, प्रियंका एक ऐसे पीरियड उत्पाद की तलाश में थी, जिसका उपयोग वह तैराकी के दौरान कर सकती थी, संयोग से उसे मेंसट्रूअल कप मिला। क्योंकि वह एक जिज्ञासु किशोरी थी, इसलिए कौमार्य को मान्यता देने वाले संस्कृति से होने के बावजूद उन्होंने मेंसट्रूअल कप इस्तेमाल किया। इसके कॉम्फोर्ट को देख कर वह चकित रह गई और इस बात से भी हैरान थी कि मेंसट्रूअल कप कितना पर्यावरण अनुकूल और सस्ता है!

2014 में, दस सालों तक मेंसट्रूअल कप का उपयोग करने के बाद प्रियंका को एहसास हुआ कि सतत मासिक धर्म उसकी विशेषता थी। उनके पति प्रणव उनके सर्वश्रेष्ठ प्रेरणा-दाता थे; उन्होंने प्रियंका को कप के लाभों के बारे में प्रचार करने को प्रोत्साहित किया। जहाँ प्रियंका ने अपनी इंटीरियर डिजाइनिंग की नौकरी छोड़ दी, वहीं उनके पति ने भी अधिक अर्थपूर्ण लक्ष्य का अनुसरण करने के लिए अपना व्यापारिक धंधा छोड़ दिया। दोनों ने साथ में, हाइजीन एंड यू (स्वच्छता और आप) शुरू किया, जो पर्यावरण अनुकूल पीरियड उत्पादों के प्रति समर्पित एक वेबसाइट है। उन्होंने एक ऐसा सफ़र शुरू किया जो दिन दूना और रात चौगुना बढ़ने वाला था।

जहाँ भारत की महिलाओं के लिए मेंसट्रूअल कप उपलब्ध करवाना हाइजीन एंड यू के प्रयासों का एक पहलू था, इसके प्रचार के लिए काफी आधारभूत काम करने की भी जरूरत थी। प्रियंका ने पुनः उपयोग होने वाले पीरियड उत्पादों और मासिक धर्म के बारे में जागरूकता सत्र लेना शुरू किया। समय के साथ-साथ, उन्हें समझ आया कि पीरियड उत्पादों के बारे में बात करने से पहले फिलहाल यह जरूरी है कि औरत के तन को घेरी हुई शर्म और चुप्पी को तोड़ा जाए। इसलिए, महिलाओं को पर्यावरण अनुकूल पीरियड उत्पादों जैसे कि पीरियड कप और कपड़े की पैड्स के बारे में जानकारी देने से पहले अब उनके सत्रों में औरत के जननीय स्वास्थ्य और मासिक धर्म के बारे में अधिक जानकारी शामिल थी।

महिलाओं द्वारा मेंसट्रूअल कप और कपड़े की पैड्स का उपयोग शुरू करने में उनकी सहायता के लिए, प्रियंका ने “मेंसट्रूअल कप्स क्लॉथ पैड्स (एमसीसीपी)” – एक फेसबुक ग्रूप, और केवल महिलाओं के कई व्हाट्सऐप ग्रूप्स शुरू किया, जहाँ महिलाएं खुल कर सवाल कर सकती हैं और यह बदलाव लाने के जुड़े सभी संदेहों का समाधान पा सकती हैं। अधिक मंचों और संसाधनों की आवश्यकता ने प्रियंका को हाइजीन एंड यू के यूट्यूब चैनल पर एक ब्लॉग पोस्ट, विडियो पोस्ट शुरू करने, उपलब्ध उत्पादों की तुलनात्मक तालिकाएं प्रदान करने, और इस लक्ष्य के पीछे काम करते अन्य लोगों और संगठनों के साथ यथोचित सहयोग स्थापित करने को प्रेरित किया। भारत और दुनिया भर की हजारों महिलाओं को इन संसाधनों से लाभ पहुँचा है।

इस क्षेत्र में कई सालों तक समर्पित कार्य करने के कारण हाइजीन एंड यू को एक विश्वसनीय ग्राहाक बेस मिला है। 2017 में, प्रियंका और प्रणव ने एक और कदम आगे बढ़ाते हुए सोच ग्रीन के नाम के तहत अपने उत्पादों की श्रृंखला शुरू की। वे कपड़े की पैड्स, लेबिया पैड्स, पीरियड पैंटीज, और मेंसट्रूअल कप का विनिर्माण करते हैं। प्रियंका ने अपने शोध और अंतर्दृष्टि का उपयोग किया और उन्होंने हर एक उत्पाद की डिज़ाइन और विनिर्माण का खुद निरीक्षण किया है। जहाँ उपयोगकर्ता की कॉम्फोर्ट इन उत्पादों का अंतिम लक्ष्य है, वहीं बाजार में उपलब्ध उत्पादों में से ये सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता के उत्पाद हैं।

सोच जो मायने रखती है।

पर्यावरणीय संतुलन के साथ स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए एक अच्छी तरह से तैयार विचार।

हमारी परिकल्पना

एच एंड वाई एक डिस्पोजेबल-मुक्त, सतत दुनिया की परिकल्पना करता है जहाँ सेनेटरी नैपकिन और डिस्पोजेबल डायपर जैसे एकल-उपयोग उत्पादों की कोई जरूरत न हो।

matter-frst
matter-scnd

लक्ष्य का विवरण

महिलाओं और पुरुषों को सशक्त बनाना और उनकी निजी स्वच्छता को लेकर एक बेहतर, सुरक्षित, और पर्यावरण अनुकूल विकल्प चुनने में उनकी सहायता करना।

backtotop